हमारी संस्कृति
हनुमानजी के पुत्र मकरध्वज की उत्पत्ति की कथा
धर्म शास्त्रों के अनुसार जिस समय हनुमानजी सीता की खोज में लंका पहुंचे और मेघनाद द्वारा पकड़े जाने पर उन्हें रावण के दरबार में प्रस्तुत किया गया। तब रा....
रावण के तीन गुणकारी मंत्र
श्री राम और रावण के बीच हुए अंतिम युद्ध के बाद रावण जब युद्ध भूमि में मरणशैय्या पर पड़ा था तब समस्त वेदों के ज्ञाता, महापंडित रावण ने लक्ष्मण को राजनीत....
आज है हरियाली तीज, 108वें जन्म मे पूरी हुई थी पार्वती माता की तपस्या
इस तीज व्रत में मां पार्वती के अवतार तीज माता की उपासना की जाती है। पौराणिक जानकारी के अनुसार मां पार्वती ही श्रावण महीने की तृतीया तिथि को देवी के रू....
"क्यों कहलातें है पंचरुपी हनुमान"

जब राम और रावण की सेना के मध्य भयंकर युद्ध चल रहा था और रावण अपने पराजय के समीप था तब इस समस्या से उबरने के लिए उसने अपने मायावी भाई अहिरावण को याद....

"क्यों किया था विभीषण ने गणेश जी पर वार"

कहा जाता है कि रावण का वध करने के बाद भगवान राम ने अपने भक्त और रावण के भाई विभीषण को भगवान विष्णु के ही एक रूप रंगनाथ की मूर्ति प्रदान की थी। विभी....

"माता सीता ने क्यों निगला लक्ष्मण को"

एक समय की बात है मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम रावण का वध करके भगवती सीता के साथ अवधपुरी वापस आ गए । अयोध्या को एक दुल्हन की तरह से सजाया गया और उत्स....

हनुमान जी से जानिए सफलता के सूत्र

हनुमान जी की पूजा से ही नहीं बल्कि उनसे कुछ बातें सीख लेने पर भी हमारी सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं और सभी कामों में सफलता मिल सकती है। यहां जानि....

आखिर क्यों दिया था माता पार्वती ने भगवान शिव, विष्णु, नारद, कार्तिकेय और रावण को श्राप!!
एक बार भगवान शंकर ने माता पार्वती के साथ जुआ खेलने की अभिलाषा प्रकट की। खेल में भगवान शंकर अपना सब कुछ हार गए। हारने के बाद भोलेनाथ अपनी लीला को रचते ....
विजय दशमी
विजय दशमी का दूसरा नाम दशहरा भी है। जब अहंकारी रावण ने सीता का अपहरण कर लिया था तो भगवान राम सीता को वापस लाने के लिए निकले। मार्ग में नारद मुनि क....
नलकुबेर ने दिया था रावण को श्राप
एक बार स्वर्ग की अप्सरा रम्भा, कुबेर के पुत्र नलकुबेर से मिलने जा रही थी। इसी दौरान बीच मार्ग में रावण ने उसे देख लिया। वह रंभा के रूप और सौंदर्य को द....
आज का भजन
आज का पंचांग
आज का दर्शन
© 2017 Sanskar Info Pvt. Ltd.
All rights reserved | Legal Policy
कार्यक्रम विवरण | हमारे बारे में | संपर्क