हमारी संस्कृति
अर्धनारीश्वर शिव

सृष्टि के आदि में जब सृष्टिकर्ता ब्रह्माद्वारा रची हुई सृष्टि विस्तार को नहीं प्राप्त हुई, तब ब्रह्मा जी उस दु:ख से अत्यंत दु:खी हुए । उसी समय....

सुंदरकांड का धार्मिक महत्त्व क्यों ?

सुंदर कांड वास्तव में हनुमान जी का कांड है । हनुमान जी का एक नाम सुंदर भी है । सुंदर कांड के लिए कहा गया है -

सुंदरे सुंदरे राम: सुंदरे सुं....

ज्ञानी बने पर अंहकारी न बने
एक युवा ब्रह्मचारी ने दुनिया के कई देशों में जाकर अनेक कलाएं सीखीं। एक देश में उसने धनुष-बाण बनाने और चलाने की कला सीखी। कुछ दिनों के बाद वह दूसरे देश....
जानिए क्या है होलाष्टक
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार फाल्गुन शुक्लपक्ष अष्टमी होलाष्टक तिथि का आरंभ है। इस तिथि से पूर्णिमा तक के आठों दिनों को होलाष्टक कहा गया है। इस वर्ष हो....
रामनवमी क्यों मनाई जाती है?
रामनवमी भारत में मनाया जाने वालो एक प्रमुख त्योहार है, जिसे हिंदुओं का भी एक बड़ा और प्रमुख त्योेहार माना जाता है। रामनवमी का त्योहार हर वर्ष मार्च से....
श्री राम के साथ करें, भगवान शिव की उपासना
ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव श्री राम के इष्ट एवं श्री राम शिव के इष्ट हैं। ऐसा संयोग इतिहास में नहीं मिलता कि उपास्य और उपासक में परस्पर इष्ट भाव हो....
भगवान विष्णु के दस अवतार 1.मत्स्यावतार
मत्स्यावतार
प्राचीन काल में सत्यव्रत नाम के एक राजा थे। वे बड़े ही उदार और भगवान के परम भक्त थे। एक दिन वे कृतमाला नदी में तर्पण कर रहे थे। उसी समय....
भगवान विष्णु के दस अवतार:- वराहावतार
अनन्त भगवान ने प्रलय के जल में डूबी हुई पृथ्वी का उद्धार करने के लिए वराह शरीर धारण किया। कहा जाता है कि एक दिन स्वायम्भुव मनु ने बड़ी नम्रता से हाथ ज....
भगवान विष्णु के दस अवतार:- नृसिंह अवतार
भगवान विष्णु के दस अवतार:- नृसिंह अवतार
नृसिंह अवतार हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान विष्णु के दस अवतारों में से चतुर्थ अवतार हैं जो वैशाख में श....
"नंदी के अबोध आचरण ने किया भोलेनाथ को क्रोधित"
पौराणिक दंत कथा अनुसार, एक बार शिवजी के निवास स्थान पर कुछ दुष्ट व्यक्ति प्रवेश कर जाते हैं। इस बात का बोध होते ही शिवजी नंदी को कुछ निर्देश देने के ल....
"भगवान शिव के चार साथी"
"भगवान शिव के चार साथी"
भगवान श‌िव का ध्यान करने मात्र से मन में जो एक छव‌ि उभरती है वो एक वैरागी पुरुष की है। इनके एक हाथ में त्र‌िशूल, दूसरे हाथ....
आज है हरियाली तीज, 108वें जन्म मे पूरी हुई थी पार्वती माता की तपस्या
इस तीज व्रत में मां पार्वती के अवतार तीज माता की उपासना की जाती है। पौराणिक जानकारी के अनुसार मां पार्वती ही श्रावण महीने की तृतीया तिथि को देवी के रू....
"कैसे शेर बना मां दुर्गा की सवारी
मां दुर्गा को यूं ही शेर की सवारी प्राप्त नहीं हुई थी इसके पीछे एक रोचक कहानी है। धार्मिक इतिहास के अनुसार भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए द....
"कैसे पड़ा भगवान शिव का नाम त्रिपुरारी?"
 शिवपुराण के अनुसार,  दैत्य तारकासुर के तीन पुत्र थे- तारकाक्ष,  कमलाक्ष व विद्युन्माली। जब भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय ने तारकासुर का....
"कैसे बना मूषक भगवान गणेश की सवारी"
भगवान गणेश का चूहा पूर्व जन्म में एक गंधर्व था, जिसका नाम क्रोंच था। एक बार देवराज इंद्र की सभा में गलती से क्रोंच का पैर मुनि वामदेव के ऊपर पड़ गया। म....
"भगवान विष्णु ने क्यों किया पतिव्रता वृंदा के साथ छल"
श्रीमद् भागवत पुराण के अनुसार एक बार भगवान शिव ने अपना तेज समुद्र में फेंक दिया था। जिससे जलंधर उत्पन्न हुआ। माना जाता है कि जलंधर में अपार शक्ति थी औ....
"शिव की महिमा अपरम्पार"
एक समय की बात है, किसी नगर में एक साहूकार रहता था। उसके घर में धन की कोई कमी नहीं थी लेकिन उसकी कोई संतान नहीं थी इस कारण वह बहुत दुखी था। पुत्र प्राप....
"मां लक्ष्मी ने क्यों तोड़ा भगवान विष्णु का वचन ?"
एक बार भगवान विष्णु धरती पर घुमने का विचार कर रहे थे उन्होंने ये बात मां लक्ष्मी जी से कहा- "लक्ष्मी मैं धरती लोक पर घुमने जा रहा हूं" ,तो कुछ सोच कर ....
"भगवान शिव ने कैसे किया कृष्ण के बालरुप का दर्शन ?"
भगवान शिव के इष्ट हैं विष्णु। जब विष्णुजी ने श्रीकृष्ण के रूप में अवतार लिया तो अपने इष्ट के बाल रूप के दर्शन और उनकी लीला को देखने के लिए शिवजी ने जो....
"मुश्किल कार्य को करें आसान गणपति"
एक बार भगवान शिव के मन में एक बड़े यज्ञ के अनुष्ठान का विचार आया। विचार आते ही वे शीघ्र यज्ञ प्रारंभ करने की तैयारियों में जुट गए। सारे गणों को यज्ञ अ....
"तुलसी क्यों वर्जित हैं गणेश जी की पूजन से?"

पौराणिक काल में गणेश जी गंगा तट पर तपस्या में लीन थे। इसी कालावधि में धर्मात्मज की नवयौवना कन्या तुलसी ने विवाह की इच्छा लेकर तीर....

"भगवान विष्णु ने क्यों लिया मोहिनी अवतार"

श्रीहरि यानी भगवान विष्णु ने एकमात्र स्त्री रूप लिया है, और वो है मोहिनी अवतार। यह अवतार उन्होंने कई बार लिया। लेकिन धर्मग्रंथों से मिली प्रमाणिक ज....

"कैसे हुई गंगा मां की उत्पत्ति?"


गंगा जी को स्वर्ग से पृथ्वी पर लाने के लिए अंशुमान के पुत्र दिलीप व दिलीप के पुत्र भागीरथ ने बड़ी तपस्या की थी। उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर म....

"क्यों पूजा जाता है सर्वप्रथम भगवान गणेश को"

पद्मपुराण में बताया गया जब यह प्रश्न उठा कि प्रथमपूज्य किसे माना जाए, तो समस्त देवतागण ब्रह्माजी के पास पहुंचे। ब्रह्माजी ने कहा - कि जो कोई संपूर्....

"भगवान विष्णु ने मां लक्ष्मी को क्यों दिया दंड"