हमारी संस्कृति
"क्यों पूजा जाता है सर्वप्रथम भगवान गणेश को"

पद्मपुराण में बताया गया जब यह प्रश्न उठा कि प्रथमपूज्य किसे माना जाए, तो समस्त देवतागण ब्रह्माजी के पास पहुंचे। ब्रह्माजी ने कहा - कि जो कोई संपूर्....

दीपावली - हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्योहार

 

रोशनी का त्योहार दिवाली हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्यो....

माता, पिता एवं गुरु की महिमा
श्रीसूत जी बोले - द्विजश्रेष्ठ ! चारों वर्णों के लिए पिता ही सबसे बड़ा अपना सहायक है । पिता के समान अन्य कोई अपना बंधु नहीं है, ऐसा वेदों का कथन ह....
देव प्रतिमा निर्माण विधि

सूत जी बोले - ब्राह्मणों ! मैं प्रतिमा का शास्त्रसम्मत लक्षण कहता हूं । उत्तम लक्षणों से रहित प्रतिमा का पूजन नहीं करना चाहिए । पाषाण, काष्ठ, ....

मूर्ति पूजन का तात्पर्य

स्वामी विवेकानंद की ख्याति दिन प्रतिदिन फैलती रही । उनका गुणगान सुनकर अलवर राज्य के दीवान महोदय ने उन्हें अपने घर बुलाया । स्वामी जी का सत्संग....

नवरात्र व्रत की कथा

प्राचीन काल में एक सुरथ नाम का राजा हुआ करता था । उसके राज्य पर एक बार शत्रुओं ने चढ़ाई कर दी । मंत्री गण भी राजा के साथ विश्वासघात करके शत्रु....

नवरात्र व्रत की कथा

प्राचीन काल में एक सुरथ नाम का राजा हुआ करता था । उसके राज्य पर एक बार शत्रुओं ने चढ़ाई कर दी । मंत्री गण भी राजा के साथ विश्वासघात करके शत्रु....

तिथियों और नक्षत्रों के देवता तथा उनके पूजन का फल
विभाजन के समय प्रतिपद् आदि सभी तिथियां अग्नि आदि देवताओं को तथा सप्तमी भगवान सूर्य को प्रदान की गई। जिन्हें जो तिथि दी गई, वह उसका ही स्वामी कहलाया। अ....
सर्वप्रथम गणेश का ही पूजन क्यों
भारतीय देव परंपरा में गणेश आदिदेव हैं। हिंदू धर्म में किसी भी शुभकार्य का आरंभ करने के पूर्व गणेश जी पूजा करना आवश्यक माना गया है....
प्रदोष व्रत का महत्त्व
हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत प्रत्येक मास की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को किया जाता है। यह व्रत कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष दोनों को किया जाता है। प्रद....
समुद्र मंथन से प्राप्त दूसरा रत्न - ‪‎कामधेनु‬
भगवान शंकर के विष ग्रहण करने के बाद देवताओं और दैत्यो ने मंथन आरम्भ किया। समुद्र के चारों ओर बड़े जोर की आवाज उत्पन्न हुई। देव और असुरों ने जब सिर उठा....
देवशयनी एकादशी, जानिए कैसे करें पूजन
आषाढ़ शुक्ल एकादशी को देवशयनी एकादशी कहा जाता है। इस दिन से भगवान श्रीहरि विष्णु क्षीरसागर में शयन करते हैं। इस साल यह पर्व 15 जुलाई यानि आज है। इ....
आज का भजन
आज का पंचांग
आज का दर्शन
© 2017 Sanskar Info Pvt. Ltd.
All rights reserved | Legal Policy
कार्यक्रम विवरण | हमारे बारे में | संपर्क