आज का भजन
आज का पंचांग
आज का दर्शन




| हमारी संस्कृति
सावन के पवित्र महीनें में जानिए शिवजी के पवित्र धामों के बारें में
सावन के पवित्र महीनें में जानिए शिवजी के पवित्र धामों के बारें में कैलाश मानसरोवर
कैलाश पर्वत और मानसरोवर को धरती का केंद्र मान....
सावन के पवित्र महीनें में जानिए शिवजी के पवित्र धामों के बारें में सोमनाथ
हिन्दू धर्म में सोमनाथ मंदिर का अपना एक अलग ही स्थान ह....
रुद्राभिषेक क्यों है इतना प्रभावी और महत्वपूर्ण भगवान शिव अनादि व अनन्त हैं अर्थात न तो कोई भगवान शिव के प्रारंभ के बारे में जानता है और न ही कोई अं....
क्यों प्रिय है भगवान शिव को बेलपत्र शिव पूजा का सबसे पावन दिन है सोमवार। सभी देवों में शिव ही ऐसे देव हैं जो अपने भक्तों की भक्ति-पूजा स....
सावन में सोमवार का हैं खास महत्त्व पवित्र सावन माह की शुरुआत हो गई है। शिव पूजा के लिए अत्यंत फलदायी माने जाने वाले इस माह में सोमवार क....
विलक्षण गुरुदक्षिणा आचार्य द्रोण का अपमान उनके सहपाठी पांचाल नरेश द्रुपद ने यह कह कर दिया कि एक राजा की तुम्हारे जैसे श्....
शिक्षाप्रद कहानियां- सदा दुःखी रहता है समय गंवाने वाला किसी गांव में एक व्यक्ति रहता था। वह बहुत ही भला था लेकिन उसमें एक दुर्गुण था वह हर काम को टाला करता....
भगवान विष्णु के ‪हयग्रीवावतार‬ की कथा एक समय की बात है। हयग्रीव नाम का एक परम पराक्रमी दैत्य हुआ। उसने नदी के तट पर भगवती महामाया की प्रसन....
क्यों मनाई जाती है गुरु पूर्णिमा, क्या है महत्त्व आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा भी कहते है। इस दिन गुरु की पूजा का विधान है। कहते हैं कि इस द....
हो रही है सावन की शुरुआत, ऐसे रखें सोमवार का व्रत आदिकाल से ही सावन माह में सोमवारी व्रत का विशेष महत्त्व है। इस वर्ष सावन की शुरुआत 20 जुलाई से हो रह....
| कथाएं
श्रीमद्भागवत कथा - भाईश्री - लीसेस्टर । दिन 1
सद्भावना सम्मेलन - सतपाल जी महाराज, उज्जैन ॥ दिन 1
श्रीमद्भागवत कथा - भाईश्री जी - बद्रीनाथ ॥ दिन 1
श्रीमद्भागवत कथा - भाईश्री जी - बद्रीनाथ ॥ दिन 2
श्रीमद्भागवत कथा - भाईश्री जी - उज्जैन ॥ दिन 8
| प्रवचन
अमृत वचन - सुधांशु जी महाराज || एपिसोड 1
प्रवचन सरिता - अवधेशानंद गिरि जी ॥ एपिसोड 2
देवी भागवत कथा - साध्वी ऋतंभरा || भाग 03
प्रवचन सरिता ॥ एपिसोड 1
देवी भागवत कथा - साध्वी ऋतंभरा || भाग 02
| भजन
सब कुछ बदल जाता है ॥ सौरभ, मधुकर
बिहारी जी की बड़ी-बड़ी अंखियां ॥ आरुषि गंभीर
शशि ढल रहा ॥ सुमन माल
सांई मेरे सांई ॥ अरुण गोयल
न तो राधा हूं मैं ॥ शीतल चौहान


© 2016 Sanskar Info Pvt. Ltd.
All rights reserved | Legal Policy
कार्यक्रम विवरण | हमारे बारे में | संपर्क